10 Lines On Subhash Chandra Bose In Hindi And English Language

 

 

10 Lines On Subhash Chandra Bose In Hindi And English Language

नमस्ते दोस्तों आज हम सुभाष चंद्र बोस पर 10 पंक्तियाँ (लाइन) हिंदी और इंग्लिश में (10 Lines On Subhash Chandra Bose In Hindi And English Language) लिखेंगे दोस्तों यह 10 Point (Kids) class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12  तक के School और College के विद्यार्थियों के लिए लिखे गए है।

हमारी Website पर आप बड़े निबंध भी पढ़ सकते है। इस 10 Lines का वीडियो नीचे दिया गया है। वेबसाइट के सभी लेखो के विडियो देखने के लिए हमारे YouTube Channel पर जाये। आपसे निवेदन है की हमारे Channel को  Subscribe  करें।

दोस्तों सुभाष चन्द्र बोस ने हमारे देश को आजाद कराने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान दिया है ये शायद बहुत कम लोग जानते है

सुभाष चन्द्र बोस ने अंग्रेजो के सामराज्य इतना कमजोर कर दिया। जिससे अंग्रेज भयभीत हो गये और हमे आजादी मिलने में आसानी हुई। वह क्या कारण रहे। यह आपको सुभाष चन्द्र बोस के बारे में 10 पंक्तियाँ के लेख के माध्यम से पता चल जाएगा तो चलिए शुरू करते है

10 Lines On Subhash Chandra Bose In Hindi


  1. नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी सन 1897 में उड़ीसा राज्य की राजधानी कटक में हुआ था।
  2. सुभाष चंद्र बोस के पिता का नाम जानकीनाथ बोस था। वे कटक शहर के मशहूर वकील थे और माँ का नाम प्रभावती था।
  3. सुभाष चंद्र बोस ने मैट्रिक 1913 में और 1915 में इंटरमीडिएट की परीक्षा दूसरा स्थान के साथ पास की। 1918 में दर्शनशास्त्र में बैचलर की डिग्री प्राप्त की।
  4. जानकीनाथ बोस के कुल 14 सन्तानें थी जिसमें 6 बेटियाँ और 8 बेटे थे। सुभाष उनकी नौवीं सन्तान में पाँचवें नंबर के बेटे थे। 
  5. सुभाष चंद्र बोस अपने देश से बहुत प्रेम करते थे वे अंग्रेजो की नौकरी नहीं करना चाहते थे इसलिए उन्होंने आईसीएस की सरकारी नौकरी छोड़ दी
  6. 3 मई 1939 को सुभाष चंद्र बोस ने फॉरवर्ड ब्लॉक के नाम से अपनी पार्टी की स्थापना की। 
  7. बोस ने अंग्रेज़ों के खिलाफ लड़ने के लिये, जापान के सहयोग से आज़ाद हिन्द फौज का गठन किया
  8. सुभाष चंद्र बोस ने जय हिंद, “तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आजादी दूँगा” नारा दिया जो बहुत प्रसिद्ध हुआ
  9. सुभाष चंद्र बोस और गाँधी जी के विचार कभी एक दुसरे से नहीं मिले इसी कारण वे साथ काम नहीं कर पाए मगर दोनों का लक्ष्य भारत को अंग्रेजो से आजाद कराना था।
  10. ऐसा बोला जाता है की 18 August 1945,को सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु विमान दुर्घटना में हुई थी मगर आज भी ये पहेली बनी हुई है। कुछ लोग बोलते है वे अभी भी जीवित है
 

Subscribe Now


5 Lines On Subhash Chandra Bose In Hindi


  1. नेता जी ने 5 जुलाई 1943 को सिंगापुर के टाउन हाल के सामने सेना को सम्बोधित करते हुए “दिल्ली चलो” का नारा दिया
  2. गाँधीजी नरम थे तो सुभाष चंद्र बोस जोशीले थे दोनों के कार्य करने का तरीका एक दुसरे के विपरीत था इसलिए एक दुसरे का तालमेल नहीं बैठा, मगर फिर भी सुभाष चंद्र बोस ने महात्मा गांधी जी को राष्ट्रपिता के नाम से संबोधित किया था।
  3. सुभाष चंद्र बोस ने देश को आजाद कराने के कई देशो की यात्रा की व कुटनीतिक तरीके से उनको भारत का सहयोग करने के लिए मनाया
  4. सुभाष चंद्र बोस ने आजाद हिंदी फौज के निर्माण करने के साथ अंग्रेजो की सेना में बगावत करवाकर ब्रिटिश सरकार को कमजोर बना दिया।
  5. सुभाष चंद्र बोस एक महान देश भक्त थे। वे हमारे आदर्श है। उनके कार्य हमें आज भी देश भक्ति के लिएउत्साहित करते है।

10 Lines On Subhash Chandra Bose In English Language


  1. Netaji Subhash Chandra Bose was born on 23 January 1897 in Cuttack, the capital of the state of Orissa.
  2.  Subhas Chandra Bose’s father’s name was Jankinath Bose. He was a famous lawyer of Cuttack city and mother’s name was Prabhavati.
  3. Subhash Chandra Bose passed the matriculation in 1913 and the intermediate examination in 1915 with a second position. In 1918 he obtained a bachelor’s degree in philosophy
  4. Jankinath Bose had 14 children in which there were 6 daughters and 8 sons. Subhash was the fifth son in their ninth child.
  5. Subhash Chandra Bose loved his country very much. He did not want to do the job of slavery of the British, so left the government job of ICS.
  6. On 3 May 1939, Subhash Chandra Bose founded his party called Forward Bloc.
  7. Bose formed the Azad Hind Fauj with the help of Japan to fight against the British.
  8. Subhash Chandra Bose gave the slogan Jai Hind, “You give me blood, I will give you freedom” which became very famous.
  9. The ideas of Subhash Chandra Bose and Gandhiji never met each other, that is why they could not work together, but the goal of both was to free India from the British.
  10. It is said that on 18 August 1945, Subhash Chandra Bose died in a plane crash, but even today this puzzle remains. Some people say that he is still alive.

5 Lines On Subhash Chandra Bose In English Language


  1. Netaji gave the slogan “Delhi Chalo” while addressing the army in front of the Town Hall of Singapore on 5 July 1943.
  2. Gandhiji was soft and Subhash Chandra Bose was passionate. The way of working of both was opposite to each other. Therefore, there was no coordination with each other, but still Subhash Chandra Bose addressed Mahatma Gandhi as the father of the nation.
  3. Subhash Chandra Bose traveled to many countries to liberate the country and diplomatically persuaded them to cooperate with India.
  4. Subhash Chandra Bose weakened the British government by creating a revolt in the British army along with the formation of the Azad Hindi Fauj.
  5. Subhas Chandra Bose was a great patriot. He is our role model. His works still encourage us for patriotism.

दोस्तों तो ये थी 10 पंक्तियाँ सुभाष चंद्र बोस के बारे में उम्मीद करता हूँ। सुभाष चंद्र बोसपर 10 पंक्तियाँ (लाइन) हिंदी और इंग्लिश में (10 Lines On Subhash Chandra Bose In Hindi And English Language) आपको जरुर पसंद आई होगी। अगर पसंद आये तो इसे अपने परिवार और दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें। धन्यवाद