स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Essay On Independence Day In Hindi)

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Essay On Independence Day In Hindi)

नमस्ते दोस्तों आज हम स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Essay On Independence Day In Hindi) लिखेंगे दोस्तों यह जल संरक्षण पर निबंध (Kids) class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12  और College के विद्यार्थियों के लिए लिखे गए है।

हमारी Website पर आप 10 Lines Short Essay भी पढ़ सकते है।। इस (swatantra divas per nibandh) का वीडियो जल्द ही उपलब्ध हो जायेगा । वेबसाइट के सभी लेखो के विडियो देखने के लिए हमारे YouTube Channel पर जाये। आपसे निवेदन है। की हमारे Channel को Subscribe Now करें।


15 अगस्त पर निबंध  (Independence Day Essay In Hindi)


प्रस्तावना

15 अगस्त ये दिन हमारे भारत के आजादी का दिन है। इस दिन हिंदुस्तान को ब्रिटिश शासन अर्थात अंग्रेजों की गुलामी से आजादी मिली थी। जिसे हम 15 अगस्त के रूप में मानते है। यह भारत का सबसे बड़ा राष्ट्रीय पर्व है। जिसे वीर शहीदों की याद में मनाया जाता है। 

भारत के स्वतंत्र होने पर पहली बार हमारे प्रथम प्रधानमन्त्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी ने दिल्ली के लाल किले के लाहोरी द्वार पर भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया था।

महात्मा गांधी के नेतृत्व में स्वतंत्रता संग्राम ने भारत की जनता को शांति और अहिंसा का पढ़ाते हुए बिना हथियार के लड़ाई लड़ी। इसमें सैकड़ो देश भक्तो ने अपना जीवन कुर्बान कर दिया। कुछ स्वतंत्रता सेनानी हंसते हंसते फांसी पर चढ़ गए और लोगों में स्वतंत्रता की ज्योति जला गए। ।

इस दिन भारत में सभी जगह स्कूल कॉलेज और सरकारी कार्यालयों में झंडा फहराया जाता है। परेड होती है। सांस्कृतिक आयोजन होते है। विद्यार्थी देशभक्ति गीत गाते है। इस दिन टीवी पर देशभक्ति फिल्में दिखाई जाती है।


15 अगस्त निबंध हिंदी में  (15 August Essay In Hindi)


जब भारत अंग्रेजों के अधीन था। तब भारत के हाथ में स्वयं के कोई नियम कानून कायदे नहीं थी। सब अंग्रेजों के नियम अनुसार और उनकी मर्जी से होता था।

इस वजह से भारत के नागरिकों का शोषण होता था। और उनके साथ अभद्र व्यवहार करते थे। वे अपनी मनमर्जी से कार्य करवाते थे। इसी कारण जनता स्थति धीरे धीरे खराब होती गयी।

जैसे एक पक्षी पिंजरे में बंद होकर कुछ भी नहीं कर सकता ठीक उसी प्रकार की हालत भारत की थी। अंग्रेज भारत के नागरिक से कड़ी मेहनत करवाते थे और कोई भी कर लगाकर उन राजकोष का बोझ डाल देते थे।

भारत को इस गुलामी से महात्मा गाँधी और कई सैकड़ो देश भक्तो ने अपने बलिदान से आजादी दिलाई। भारत की जानत को वो सभी अधिकार मिले जिनके वो हक़दार थे।  

इसी वजह से हम खुली हवा में जी रहे है। मगर आज भी हम लोग धन-दोलत, और भ्रष्टाचार के गुलाम है जो भारत के विकास और उसके भविष्य के लिए अच्छा नहीं है। जब हम इन सब समाप्त कर देंगे तब ही हमारा भारत पूर्ण रूप से आजाद होगा।   


स्वतंत्रता दिवस क्यों  मनाया जाता है (Why is independence day celebrated In Hindi)


हमारे देश भारत को अंग्रेजों से आजादी मिलने की ख़ुशी के साथ भारत को आजाद कराने में सैकड़ों वीरो ने अपना बलिदान दिया था उन देशभक्तों की याद में स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।


स्‍वतंत्रता दिवस को 2020 तक कितने साल पूरे हुए (How many years of independence day 2020)


हमारा भारत देश 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ था इसके अनुसार भारत को आजाद हुए 75 साल पुरे हो चुके है  2021 तक मगर 15 अगस्त साल की समाप्ति के पास है इस अनुसार स्‍वतंत्रता दिवस को 2020 तक 74  साल हो गये है


स्कूल स्तर पर 15 अगस्त पर निबंध


भारत को स्वतंत्रता सैकड़ों वीरों के बलिदान से प्राप्त हुई है। स्वतंत्रता दिवस का महत्व शब्दों में बयान नहीं कर सकते है। भारत में स्वतंत्रता दिवस आने से कुछ समय पहले ही स्कूल कॉलेज में इसकी तैयारी हो जाती है।

स्कूल में शिक्षक बच्चों को देश भक्ति गीत, सांस्कृतिक कार्यक्रम और निबंध लेखन जैसे कई प्रतियोगित की तैयारी करवाई जाती है। स्वतंत्रता दिवस के दिन बच्चे सुबह 8:00 बजे स्कूल पहुंच जाते है।

15 अगस्त के दिन सुबह सुबह तेज स्पीकर पर देश भक्ति की गीतों को सुना जा सकता है जो हमारे मन में देश के प्रति जोश और देश भक्ति की भावना को जागृत करता है

15 अगस्त के दिन कई स्कूल में बच्चों  को हाथ में तिरंगे के रंग के  रिबन बांध कर स्कूल में बुलाया जाता है  स्वतंत्रता दिवस के दिन मंच को सजाया जाता है। सभी बच्चे प्रार्थना स्थल में लाइन से खड़े हो जाते है।

स्कूल में ध्वजारोहण के लिए अतिथि को निमंत्रण दिया जाता है वे ध्वजारोहण करते है। इसके बाद सभी बच्चे राष्ट्रगान गाते है, इसके  बाद सभी देशभक्तों के नाम का नारा लगाते है।

इसके बाद संस्कृतिक कार्यक्रम शुरू किया जाता है जिसमे बालक और बालिकाओं द्वारा देशभक्ति गीत गाते और नृत्य नाटक किया जाता है इस दिन निबंध लेखन की प्रतियोगी भी होती है

15 अगस्त के दिन शिक्षक और बच्चे स्वतंत्र दिवस पर भाषण देते है, इसके पश्चात सांस्कृतिक कार्यक्रम करने वाले सभी बच्चों को इनाम बांटे जाते है। कार्यक्रम की समाप्ति पर सभी बच्चो को मिठाई देकर घर के लिए रवाना कर दिया जाता है।

कई जगह पर स्कूल के विद्यार्थी स्वतंत्रता दिवस पर शहर और गांव की गलियों में रैली निकालते हुए जय भारत माता के नारे लगते है, जिससे पूरा वातावरण आनंदमय हो जाता है।

स्वतंत्रता दिवस देश भक्ति की भावना उत्पन्न करता है। जिससे हम आजादी के महत्त्व को कभी नहीं भूले और जिन देश भक्तो के बलिदान से हमे आजादी मिली है उन्हें हम हमेशा याद रखे हमें देशभक्तों का सम्मान करना चाहिए और उनके पद चिन्हों चलते हुए अपने जीवन को सफल बनाना चाहिए


राष्ट्रीय स्तर पर 15 अगस्त पर निबंध


स्वतंत्रता दिवस के 1 दिन राष्ट्रपति संबोधन देते है। इसके अगले दिन स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली में लाल किले पर भारत के प्रधानमंत्री द्वारा ध्वजारोहण किया जाता है जिसके पश्चात राष्ट्रीय गान स्कूल की छात्राओं और राष्ट्रीय कैडेट कोर द्वारा गाया जाता है।

इसमें प्रधानमंत्री को 21 तोपों की सलामी दी जाती है दिल्ली में होने वाले 15 अगस्त के भव्य आयोजन को देखने भारत से ही नहीं बल्कि विदेशों से भी बड़ी-बड़ी हस्तियां और अतिथि यहाँ आते है

दिल्ली की इंडिया गेट से लेकर राष्ट्रपति भवन तक परेड निकाली जाती है, जिसमें जल सेना, थल सेना, और वायु सेना अपने हथियारों का शक्ति प्रदर्शन करती है जो  भारत की शक्ति को बताता है 

इस आयोजन में सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लेने वाले देश के अलग अलग राज्य अपनी संस्कृति और वेशभूषा का प्रदर्शन करते हैं राजधानी दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पतंगे उड़ाई जाती है जो आजादी का संदेश देती है दिल्ली में इस दिन सुरक्षा के कड़े इंतजाम होते हैं 

15 अगस्त शहीदों को समर्पित है जिसे हम 15 अगस्त के रूप में मनाते है और शहीदों को श्रद्धांजलि देते है इसीलिए इस दिन को हमें धूमधाम और देश के प्रति पूरे भक्ति भाव के साथ मनाना चाहिए

प्रस्तावना

15 अगस्त आजादी दिलाने वाले देशभक्तों की याद में मनाया जाता है यह दिन हम सभी के लिए महत्वपूर्ण होता है यह दिन छुट्टी का नहीं होता है बल्कि स्वतंत्रता दिवस हमें देशभक्तों के बलिदान को याद करते हुए आजादी के महत्व को बताता है

मगर आज 15 अगस्त की रौनक पहले के मुकाबले कम हो गई है क्योंकि आज के आधुनिक युग और विलासिता पूर्ण जीवन में लोग व्यस्त रहते है जिसने देश प्रति जोश को कम कर दिया है

अतः हमें अपनी सोच और विचार को बदलना चाहिए क्योंकि सबसे पहले हमारा देश है जिसमें हम आजादी से चैन की सांस ले रहे हैं और इसके लिए हमारे दिल में देश के प्रति भक्ति भाव होना चाहिए यह हमारा पहला कर्तव्य है

तो दोस्तों ये था 15 अगस्त पर निबंध  उम्मीद करता हूँ आपको 15 अगस्त पर निबंध E(ssay On Independence Day) जरुर पसंद आया होगा पसंद आये तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे

धन्यवाद

जय हिंदी जय भारत

ये भी पढ़े :